आज हम आपको बताते है बुली  बाई ऐप  की सच्चाई 

पहले कहा  जा रहा था की ये ऐप एक गरीब लड़की के द्वारा बनाया गया है

दरअसल इसको लड़की ने नहीं  असम के नीरज बिश्नोई द्वारा बनाया गया

यह एक ऐसा ऐप है जिसमे मुस्लिम लड़कीओ को फोटो डालके के उनकी नीलामी की जाती 

पुलिस को एक बेंगलुरु के छात्र के बारे में पता चला 

उन्होंने कहा कि बेंगलुरु से गिरफ्तार इंजीनियरिंग छात्र विशाल कुमार झा इस  ऐप  का follower  था।

यह ऐप  GitHub पर होस्ट किया गया। यहां महिलाओं की तस्वीरें अपलोड की गईं और उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले संदेश पोस्ट किए गए

ऐप को 31 दिसंबर को बनाया गया था और फिर  उसी दिन इसकी पहली शिकायत दर्ज की गई थी

 पुलिस ने कहा  एप्लिकेशन को बढ़ावा देने के लिए ट्विटर हैंडल का इस्तेमाल किया गया था। हमने इस ऐप केfollowers का पता लगाया

बुली  बाई ऐप को पैसे कमाने के लिए बनाया गया था बिना उन औरतो की मंजूरी के फोटोज का प्रयोग किआ जा रहा था 

आश्रम की हीरोइन की अनदेखी फोटोज