शिलाजीत के फायदे, महिलाओं के लिए शिलाजीत सेवन का फायदा | Shilajit ke fayde


शिलाजीत के फायदे

हैलो दोस्तों, कैसे हैं आप सब? उम्मीद है अच्छे ही होंगे। फ्रैंड्स, आज का हमारा टाॅपिक बहुत ही इंटरस्टिंग होने वाला है। अगर हम आपसे पूछें कि शिलाजीत के फायदे क्या हैं तो आपका एक ही जवाब होगा सैक्स समस्याओं से छुटकारा। लेकिन दोस्तों शिलाजीत के फायदे यहां तक ही सीमित नहीं हैं। हमें पता है, बहुत से ऐस लोग हैं जो छुपकर गूगल चाचा से पूछते हैं शिलाजीत के फायदे क्या हैं? आज हम आपको शिलाजीत से जुड़े कुछ ऐसे खास फायदे बताएंगे जो आपने शायद ही पहले कभी सुने हों। हम आपको यह भी बताएंगे कि शिलाजीत कहां पाया जाता है?

शिलाजीत के फायदे तो आप सब ने सुने होंगे लेकिन हम आपको शिलाजीत के नुकसान के बारे में भी बताएंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप शिलाजीत का प्रयोग सही प्राकार से नहीं करेंगे तो शिलाजीत के फायदे मिलने की बजाए नुकसान होने का भी खतरा रहता है। 

हम आपको बताएंगे कि Dabur Shilajit कैप्सूल खाने के क्या फायदे हैं? महिलाओं को शिलाजीत का सेवन करने के क्या फायदे मिलते हैं? शिलाजीत Capsule कैप्सूल खाने के फायदे भी आप जानेंगे। क्या शिलाजीत के फायदे तब भी उतने होंगे अगर आप शिलाजीत के साथ अश्वगंधा का भी सेवन एक ही समय पर करें ? तो हमारे साथ अंत तक बने रहिए।

दोस्तों, आयुर्वेद में शिलाजीत को ऐसी ताकतवर औषधी बताया गया है, जिसका सेवन करने से इंसान में शेर के बराबर ताकत आ जाती है। Doctor बताते हैं कि शिलाजीत में iron, zinc, magnesium सहित 85 से अधिक खनिज तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए काफी ज़्यादा beneficial होते हैं।

ऑलिव ऑयल के फायदे जाने।

कहाँ पाई जाती है और कैसे बनती है शिलाजीत

ये शिलाजीत POK Kashmir के हुंजाघाटी इलाके से आती है। शिलाजीत मध्य एशिया के पहाड़ों में पाई जाने वाली औषधी है। Pakistan में इसे ज़्यादातर Gilgit, Baltistan के पहाड़ों से निकाला जाता है। शिलाजीत बहुत वर्षों तक पहाड़ों की गुफाओं (Caves) में मौजूद धातुओं और पौधों के घटकों से मिल कर बनता है। जिसे एक Certain time के बाद निकाल लिया जाता है। लेकिन इसको ढूंढने का काम इतना आसान नहीं है जितना कि समझा जाता है। गगनचुंबी पहाड़ों के खतरनाक और मुश्किल रास्तों से होते हुए शिलाजीत को ढूंढने के लिए मजदूर सूर्य उगने से पहले पहाड़ों की ओर निकल पड़ते हैं।

अकसर शिलाजीत की तलाश में कई दिन लग जाते हैं। हुंजा घाटी में पहाड़ों से शिलाजीत ढूंढने और निकालने के लिए अनुभवी लोग ही जाते हैं। वे इलाके के चप्पे-चप्पे को जानते हैं। फिर यही कच्चा माल (raw material) जो पहाड़ों से ढूंढते हैं, शहर में वापस आकर खास दुकानदारों को बेचते हैं। जो उसे एक खास तरीके से साफ करने के बाद आगे बेचते हैं।

असली शिलाजीत में विशेष प्रकार की smell आती है। शिलाजीत पत्थर के अंदर ही एक खास घटक के रूप में मौजूद होती है। पहाड़ों से लाए गए बड़े पत्थरों के छोटे-छोटे टुकड़े किए जाते हैं। फिर उसे बड़ी सी बाल्टी में डालकर एक निश्चित मात्रा में पानी मिलाकर बड़े चम्मच से हिलाया जाता है। जिससे शिलाजीत अच्छी तरह से उस पानी में घुल जाए। फिर कुछ घंटे बाद पानी की सतह से गंदगी को हटाया जाता है।

इस पानी को एक हफ्ते तक ऐसे ही रखा जाता है। इस दौरान पानी का रंग बिलकुल काला हो चुका होता है। जिसका मतलब होता है कि अब शिलाजीत पत्थरों से पूरी तरह पानी में घुल चुकी है। Filtration के बाद शिलाजीत के पानी को एक शीशे से बने हुए खानों में रखते हैं। 

तकरीबन one month तक उसका पानी सूखता रहता है। इस दौरान उस बर्तन में और भी अधिक शिलाजीत का पानी डालते रहते हैं ताकि वह भर जाए। 10 Gram Shilajit की कीमत 300 रुपए से लेकर 600 रुपए तक हो सकती है।

इसे चने के दाने के बराबर गर्म दूध (Boiled Milk) में मिलाकर लेना चाहिए। जिनकी उम्र 50 साल से अधिक है उन्हें इसका सेवन daily 2 से 3 months तक करना चाहिए। तो वहीं, youngsters को इसका सेवन week में 2 days से ज़्यादा नहीं करना चाहिए। साथ ही ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) और दिल के मरीजों (Heart Patients) को भी इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे: (Benefits of taking shilajit capsules)

दोस्तों, आयुर्वेद में शिलाजीत को रसायन यानी आरोग्य देने वाला बोला गया है। हमारा शरीर सात धातुओं (elements) से मिलकर बना है। जिन्हें हम सप्त धातुएं भी कहते हैं। वो सात धातुएं इस प्रकार से हैं:-

  • रस धतु
  • रक्त धातु
  • ममस धातु
  • मेधा धातु
  • अस्थि धातु
  • मज्जा धातु
  • शुक्र धातु

इन सभी धातुओं को शिलाजीत पोषण देता है इसीलिए इसे रसायन कहा गया है। आधुनिक विज्ञान के अनुसार शिलाजीत में 84 minerals होते हैं। लेकिन इसका जो मुख्य भाग होता है वो है Fulvic Acid। चलिए अब आपको बताते हैं Dabur शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदों के बारे में जो इस प्रकार हैं -ः

1. सैक्शुअल वेलनेस (sexual wellness) : दोस्तों, Dabur शिलाजीत Capsule  में कुछ ऐसे खास तत्व पाए जाते हैं जो कि male infertility और testosterone की पुरुषों की समस्या को दूर करती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें, टेस्टोस्ट्रोन एक Hormone है जो पुरुषों के अंडकोष में काफी मात्रा में पाया जाता है। इसी hormone को मुख्य तौर पर मर्दानगी के रूप में देखा जाता है। 

यह हार्मोन पुरुषों में आक्रामकता, मांसलता, चेहरे के बाल और यौन क्षमता के लिए responsible होता है। अगर किसी male में कामेच्छा (desire of sex) की कमी है तो समझ लीजिए उसमें टेस्टोस्ट्रोन की कमी हो गई है। ऐसे व्यक्ति को नियमित तौर पर trusted कम्पनी Dabur शिलाजीत के Capsule खाना चाहिए।

2. जनरल वीकनेस (General Weakness) : आम तौर पर जो लोग एनर्जी से भरपूर होते हैं वो चाहे कितना भी काम कर लें थकते नहीं हैं। तो वहीं कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो बिना कुछ काम किए भी थके-थके से महसूस करते हैं। ऐसे लोगों को चाहिए कि regularly डाबर शिलाजीत कैप्सूल का सेवन करें। इससे उन्हें General Weakness की समस्या नहीं रहेगी।

3. एंटी एजिंग (Anti-Aging): ऐसे लोग जो एंटी एजिंग का शिकार होते हैं वो समय से पहले ही बूढ़े लगने लगते हैं। समय से पहले ही उनके चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं। इन लोगों के लिए भी Dabur शिलाजीत कैप्सूल काफी Beneficial हो सकती है। ये व्यक्ति को लंबे समय तक जवान बनाए रखती है।

4. आयरन डेफिशियंसी (Iron Deficiency): दोस्तों, जिन लोगों के शरीर में Iron की कमी हो जाती है वो लोग Anemia के शिकार हो जाते हैं। ऐसे लोग अगर daily डाबर शिलाजीत कैप्सूल खाएंगे तो वो इससे बच सकते हैं। आयरन की भरपूर मात्रा डाबर शिलाजीत कैप्सूल में होती है जो हमें एनीमिया से बचाता है।

5. अल्जाइमर (Alzheimer): दोस्तों, डाबर शिलाजीत कैप्सूल का जो अगला benefit है वो है कि ये Alzheimer की समस्या को दूर करती है। जो लोग अल्जाइमर की समस्या से जूझ रहे हैं वो भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। डाबर शिलाजीत कैप्सूल के सेवन से Alzheimer के लक्षणों में कमी आती है।

तो दोस्तों अभी आपने जाना कि Dabur शिलाजीत कैप्सूल खाने के क्या फायदे हैं। अब हम आपको बताएंगे कि महिलाओं के लिए ये कैसे फायदेमंद है। साथ ही ये भी बताएंगे कि महिलाओं को शिलाजीत के फायदे किस तरह सेवन करने से मिलेंगे।

महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे:

Mahilao ke liye Shilajit ke fayde

दोस्तों, जब भी हम शिलाजीत का नाम लेते हैं तो यही दिमाग में आता है कि ये केवल पुरुषों के लिए ही होता है। जबकि ऐसा नहीं है। पुरुषों के अलावा भी महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे कई सारे हैं। आईए इनपर नजर डालते हैं।

1. खून की कमी: जिन महिलाओं के शरीर में खून की कमी लगातार बनी रहती है उन महिलाओं को चाहिए कि वो daily एक गेहूं के दाने के बराबर, जिसे हम कहते हैं एक रत्ति, इसके बराबर आपको इसे दूध के साथ लेना है। दूध में इसे मिलाकर अच्छी तरह से boil कीजिए। रात को सोने से पहले अगर आप इसका सेवन करते हैं और वो भी लगातार एक महीने तक। तो आप देखेंगी कि आपके शरीर में जो खून की कमी है वो अपने आप दूर हो जाएगी। जिन महिलाओं को लंबे समय से यानी कई सालों से ये समस्या बनी हुई है तो उन्हें शिलाजीत का सेवन दिन में दो बार तो जरूर करना चाहिए। आप इसे दिन और रात दोनों समय ले सकती हैं।

2. अनियमित मासिक धर्म: दोस्तों, मासिक धर्म एक प्रक्रिया है जो महिलाओं के शरीर में हर माह होना तब तक होती है जब तक वो प्रेगनेंट न हो जाएं। मासिक धर्म को महावारी, पीरियड्स, रजोधर्म, मेंस्टुअल साइकिल या फिर एमसी के नाम से भी जाना जाता है। 

जब तक कोई महिला गर्भवति नहीं हो जाती तब तक हर महीने महिलाअें के शरीर में होने वाले हार्मोनल चेंजेस के कारण गर्भाशय में से रक्त का रिसाव होता है। महिलाओं के लिए ये समय बहुत ही कष्टदाई होता है। मासिक धर्म जब समय से नहीं आता है या कभी जल्दी आता है और कभी देरी से आता है तो उसे अनियमित आसिक धर्म कहते हैं। अगर मासिक धर्म अनियमित होंगे तो महिलाओं को भूख कम लगेगी, शरीर में दर्द बना रहेगा और साथ ही काफी ज़्यादा थकान भी महसूस होगी। 

इसके अलावा गर्भ में अगर खून का थक्का बन गया है तो वो भी अनियमित मासिक धर्म के ही लक्षण है। इसी को दूर करने में मददगार है शिलाजीत। आपको इसे ठीक करने के लिए दूध के साथ ही शिलाजीत का सेवन करना है। एक गेहूं के दाने के बराबर शिलाजीत को दूध में डाल कर रात के समय अच्छी तरह से पका लीजिए। आपको रोज रात को इसका सेवन करना है। अगर आपने लगातार तीन या चार महीने तक इसका सेवन किया तो आपकी ये समस्या दूर हो जाएगी।

3. पोस्ट डिलीवरी पेन (Post Delivery Pain) : जिन महिलाओ के बच्चे को जन्म देने के बाद भी लम्बे समय तक शरीर में दर्द बना रहता है। कमजोरी महसूस होती है। तो इस समस्या को दूर करने के लिए भी आप शिलाजीत का सेवन कर सकती हैं। इसके लिए आपको daily रात को दूध में शिलाजीत की थोड़ी सी मात्रा मिलाकर पकाना है और उसे रात को सोने से पहले लेना है। ऐसे आपकी समस्या जल्दी ठीक हो जाएगी।

4. शिलाजीत खनिज तत्वों की ऐसी खान है। इसमें ऐसे-ऐसे तत्व पाए जाते हैं कि जिन महिलाओं के चेहरे पर झाइयां (rinckle) रहती है, रूखापन (dryness) रहता है, Glow नहीं रहता है। तो आप इसको ठीक करने के लिए और अपनी beauty को बढ़ाने के लिए रोज रात को दूध के साथ शिलाजीत का सेवन करें। इससे आपके चेहरे पर Glow आएगा। किसी भी प्रकार का कोई रूखापन है तो वो दूर हो जाएगा।

5. महिलाएं घर के कामों में इतनी व्यस्त हो जाती हैं कि अपने शरीर पर और सेहत पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दे पाती हैं। धीरे-धीरे उनके शरीर में बीमारियां बढ़ने लगती हैं। जब महिलाएं 40 वर्ष की हो जाती हैं तो उसके बाद उनके हाथ व पैरों में दर्द की समस्या होने लगती है। 

उनकी सोचने और समझने की क्षमता भी धीरे-धीरे लो होने लगती है। लगातार काम करते रहने पर कमर में दर्द की समस्या बन जाती है। इसके साथ ही उन्हें कंधों में भी दर्द की समस्या बनी रहती है। हाथ, पैर और घुटनों में से आवाजें आने लगती हैं जैसे हड्डी चटक रही हो। 

इस बात पर महिलाओं का ध्यान कभी जा ही नहीं पाता है। लेकिन जब तकलीफ ज़्यादा बढ़ जाती है तो बहुत सारी दवाइयां लेने के बाद भी उनकी ये बीमारियां ठीक नहीं हो पाती हैं। तो अगर आप एक गेहूं के दाने के बराबर शिलाजीत को गर्म दूध में अच्छी तरह से पकाकर daily रात को सोने से पहले इसका सेवन करती हैं तो आपकी ये बीमारियां हमेशा के लिए खत्म हो जाएंगी। अगर आप शिलाजीत का सेवन लगातार 7 से लेकर 15 दिनों तक करें तो आपको इसका फायदा जल्दी ही दिखने लगेगा।

अश्वगंधा और शिलाजीत के फायदे:

दोस्तों, अभी आपको हमने बताया थ कि महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे कौन-कौन से हैं? अब ये भी जान लीजिए कि अश्वगंधा और शिलाजीत के फायदे क्या-क्या हैं। जैसा कि हमने आपको अपने पिछले लेख में ये बताया था कि अश्वगंधा का इस्तेमाल दवाई के रूप में पिछले 3000 वर्षों से किया जा रहा है।

अयुर्वेद के क्षेत्र में इसका सबसे ज़्यादा प्रयोग किया जाता है। कई सारी ऐसी बीमारियां हैं जिनके लिए Doctor आपको अश्वगंधा लेने की सलाह देते हैं। दूसरी ओर शिलाजीत है जो शादीशुदा जीवन को सफल बनाने के लिए ही नहीं, बल्कि और भी कई प्रकार की बीमारियों के लिए Doctors द्वारा suggest किया जाता है।

शिलाजीत को ही पहाड़ों का पसीना भी कह दिया जाता है। आप में से ऐसे बहुत से लोग होंगे जो कि शिलाजीत को केवल सेक्स की ही मेडिसिन समझते होंगे। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। अब बात आती है कि इन दोनों दवाओं को एक साथ ले सकते हैं या नहीं? तो हां, आप बिलकुल इन दोनों दवाओं को एक साथ ले सकते हैं। अश्वगंधा और शिलाजीत के फायदे अनेक हैं। अगर आपने शुरूआत की है अश्वगंधा की टैबलेट को लेने की तो आप इसे पहले एक ही टैबलेट दिन में लीजिए।

साथ में आप रात के समय थोड़ी मात्रा में शिलाजीत लें और उसे दूध में उबाल कर सोने से पहले इसका सेवन करें। बाद में अश्वगंधा की दो टैबलेट भी आप use कर सकते हैं। इन दोनों के ही सेवन से आपको Anxiety और तनाव से राहत मिल सकती है। इसके अतिरिक्त जब भी आप किसी न किसी कारण से डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं तो इसे दूर करने में भी अश्वगंधा और शिलाजीत के फायदे चैंका देने वाले हैं।

अगर आप Sexual Infertility से पीड़ित हैं तो भी आपके लिए अश्वगंधा और शिलाजीत के फायदे रामबाण का काम करेंगे और आपकी ये बीमारी दूर हो जाएगी। हमारे शरीर में वात, पित्त और कफ तीन प्रकार के दोष पाए जाते हैं। इन त्रिदोषों को दूर करने में भी अश्वगंधा और शिलाजीत दोनों ही काफी ज़्यादा कारगर साबित हो सकते हैं। 

जो लोग skin problem से और joint pain से जूझ रहे हैं उन्हें अश्वगंधा और शिलाजीत का सेवन जरूर करना चाहिए। अगर आप अपने दिल को मजबूत करना चाहते हैं और चाहते हैं कि आपकी दिल से संबंधित कोई भी बीमारी हो वो जल्द ठीक हो जाए तो भी आपको अश्वगंधा और शिलाजीत का सेवन करना चाहिए। ये आपको फायदा पहुंचाएंगे। Liver Cancer के केस में भी काफी हद तक अश्वगंधा और शिलाजीत का प्रयोग करना लाभकारी है।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने के फायदे: (Benefits of taking Dabur Shilajit Gold Capsule)

दोस्तों, अब हम आपको बताने वाले हैं कि डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने के फायदे क्या हैं? जैसा कि आप जानते ही हैं, Dabur शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल बहुत सालों से मार्केट में अपनी अच्छी पकड़ बनाए हुए है। आज हम आपको बताएंगे कि डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल को कब और कैसे लेना है। साथ ही डाबर शिलाजीत गोल्ड के अन्य फायदों पर भी चर्चा करेंगे।

1. पुरुषों की sexual problem को दूर करने में Dabur शिलाजीत गोल्ड Capsule कारगर है।

2. इसके लगातार सेवन करने से पुरुषों की sex power बढ़ती है। उनकी strength और stamina को भी ये बढ़ाता है। हम जानते हैं कि आप यही सोच रहे होंगे कि सेक्स करने का समय जितनी देर होता है उसे ही आप स्टैमिना कहते हैं। 

नहीं दोस्तों, स्टैमिना केवल सेक्स तक ही सीमित नहीं है। यह अन्य कार्यों के लिए जिम्मेदार है। अगर आप में स्टैमिना की कमी होगी तो आप छोटे से छोटा काम जैसे कोई भी सामान इधर से उधर रखने में, सीढ़िया चढ़ने आदि में ही थक जाएंगे। इसी को बूस्ट करने में मदद करती है Dabur Shilajit Gold Capsule।

3. डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल पुरुषों के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और उनमें चुस्ती व फुर्ती लाने में भी काफी ज़्यादा helpful है।

4. ये आयुवेर्दिक तरीके से बनाया गया है और पूरी तरह से safe to use है। बिना किसी डर के आप इसका सेवन कर सकते हैं।

5. जो पुरुष शीघ्रपतन की समस्या से जूझ रहे हैं और सेक्स का पूरी तरह से आनंद नहीं ले पाते। केवल फोरप्ले के दौरान ही जिनका वीर्य बाहर निकल आता है उन पुरुषों को लगातार डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेवन करना चाहिए। इससे उनकी ये समस्या जल्द ही दूर हो जाएगी।

6. आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में टेंशन इतनी ज़्यादा रहती है कि पुरुषों में यौन इच्छा (sex desire) की कमी हो जाती है। अगर यौन इच्छा है भी तो भी वो जल्दी ही discharge हो जाते हैं। ऐसे में वो अपने partner को अच्छे से satisfy नहीं कर पाते। तो इनसे छुटकारा पाने के लिए भी ऐसे पुरुषों को चाहिए कि वो रेगुलरली डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेन करें।

7. बहुत सारे लोगों को स्वप्न दोष की समस्या रहती है। कुछ पुरुषों को लिंग में ढीलेपन की शिकायत भी रहती है और वो sex को अच्छे से enjoy नहीं कर पाते तो ऐसे में उनके मन में कहीं न कहीं हीन भावना और तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। 

कई बार इस समस्या से निपटने के लिए कुछ पुरुष काफी ज़्यादा तनाव में आ जाते हैं और नीम हकीमों के चक्कर में पड़कर अपना समय और पैसा दोनों को ही बरबाद कर लेते हैं। उन्हें चाहिए कि डेली डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेवन करें। इससे उनकी ये समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी और वो सेक्स को अच्छे से करके अपने पार्टनर को पूरी तरह संतुष्ट भी कर पाएंगे। इसके एक कैप्सूल में 16 आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों की ताकत होती है। इसके लिए तो यह कहावत तक कही जाती है कि डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल मुर्दे में भी जान डाल देती है।

8. इसके लगातार सेवन से पुरुषों के लिंग की नसों को ताकत मिलेगी। लिंग में तनाव बना रहेगा और वे सेक्स का पूरा आनंद ले पाएंगे। इसके सेवन से आपका वीर्य गाढ़ा भी हो जाएगा और आपका वीर्यपात जल्दी नहीं होगा।

9. इसे बनाने में ऐसी जड़ीबूटियों का इस्तेमाल किया गया है जो कामोत्तेजक हैं, रोगों का नाश करने वाली हैं और मर्दों की मर्दानगी को लंबे समय तक बरकरार रखने वाली हैं।

10. डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल मानसिक और शारीरिक दुर्बलता को दूर करने का काम करती है।

कैसे करें इसका सेवन:

दोस्तों इस कैप्सूल को आपको दिन में कम से कम दो बार लेना है। एक बार सुबह और एक बार शाम को आप इसे ले सकते हैं। बेहतर यही होगा कि आप इसे दूध के साथ लें। अगर आप एक ही कैप्सूल लेंगे रात को सोने से पहले तो भी आपको दो डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने के बराबर ही परिणाम सात दिनों के भीतर मिलना शुरू हो जाएगा।

शिलाजीत से होने वाले नुकसान: 

दोस्तों, किसी भी चीज़ के दो पहलू होते हैं फायदा और नुकसान। आप ने ये तो जान लिया कि शिलाजीत के फायदे क्या हैं लेकिन अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि शिलाजीत के नुकसान क्या हैं? शिलाजीत का सेवन करने से कुछ लोगों को गर्मी ओर एलर्जी की शिकायत भी आती है। कई बार देखा गया है कि इसका सेवन करने से चेहरे पर फोड़े भी निकल आते हैं। साथ ही कुछ लोगों को rashes की समस्या भी होती है। कुछ लोगों को इसके सेवन से irritation भी होने लगती है। अगर शिलाजीत को अधिक मात्रा में लिया गया तो आपकी Heart Beat भी बढ़ सकती है। इसके ज़्यादा सेवन से आपको vomiting और बेचैनी भी महसूस होने लगती है। बार-बार पेशाब के लिए जाने की इच्छा भी पैदा हो जाती है।

असली शिलाजीत की पहचान:(Difference between real and fake Shilajit)

दोस्तों, जो शुद्ध शिलाजीत होता है उसका स्वाद कड़वा और कसैला होता है। यह काले और भूरे रंग का होता है। इसकी तासीर गर्म होती है। यह हिन्दुकुष पर्वत और हिमालय पर्वत पर पाया जाता है। लोगों को असली शिलाजीत की पहचान नहीं होती है। इसलिए मुनाफाखोर नकली शिलाजीत को ही असली शिलाजीत बताकर ज़्यादा मुनाफा कमाते हैं। असली शिलाजीत की पहचान दो तरीके से की जाती है अग्नि और जल के द्वारा। 

हालांकि जल विधि के जरिए इसकी पहचान करने पर बाजार में मिलने वाले सभी शिलाजीत पास हो जाते हैं। लेकिन अग्नि विध से शुद्ध शिलाजीत की पहचान की जा सकती है। इसके लिए आप एक पिन के आगे नोक के पास थोड़ा सा शिलाजीत लगा लीजिए। एक मोमबत्ति लीजिए उसको जला लीजिए। असली शिलाजीत की पहचान यही है कि जब हम उसे आग के पास लेकर जाएंगे तो वह पहाड़ के जैसे ही ऊपर उठ जाएगा।

जबकि नकली शिलाजीत में सफाई कम मिलेगी और गंदगी ज़्यादा होगी। असली शिलाजीत की पहचान इसी बात से कर सकते हैं। साथ ही अगर हम नकली शिलाजीत को आग के पास लेकर जाएंगे तो वह नीचे की ओर गिरने लगेगा और उसमें से धुंआ भी निकलने लगेगा। असली शिलाजीत नीचे गिरने की बजाए वहीं रुका रहता है और आसमान की ओर बढ़ता है।

असली शिलाजीत की पहचान हम smell से भी कर सकते हैं। जब हम इसे सूंघते हैं तो इसमें से गोमूत्र जैसी खुशबू आती है। कसैला टेस्ट भी इसकी शुद्धता की पहचान है।

घर पर शिलाजीत को टैस्ट कैसे करें (Test for Real Shilajit at home)

इसके लिए सबसे पहले आपको शिलाजीत लेनी है। उसे पानी के अंदर डाल देना है। अगर ऐसा करने पर brown या yellow colour का रंग आता है तो समझें ये शुद्ध शिलाजीत है। असली शिलाजीत की पहचान यही है कि वह पानी में पूरी तरह से घुल जाता है। तो वहीं नकली शिलाजीत पानी की तली में ही बैठ जाता है। शुद्ध शिलाजीत धीरे-धीरे लड़ी छोड़ता हुआ पानी के अंदर घुल जाता है। जो शुद्ध शिलाजीत होता है वो शराब, वोदका आदि में नहीं घुलता है। शुद्ध शिलाजीत में अगर दो बूंद मरकरी को डालें और एक बूंद पानी डालें तो थोड़ी ही देर में वह मरकरी यानी पारस (mercury) को absorbe कर लेगा।

निष्कर्ष : तो दोस्तों, आज आपने जाना कि शिलाजीत के फायदे क्या-क्या हैं? पुरुषों के लिए शिलाजीत के फायदे क्या हैं? महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे क्या हैं? शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे क्या हैं? आपको यह भी जानने को मिला कि डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल को खाने के फायदे क्या हैं? आपने यह भी जाना कि डाबर शिलाजीत गोल्ड का सेवन कौन कर सकता है? साथ ही शिलाजीत के फायदे केवल असली शिलाजीत का सेवन करने से ही मिलते हैं। इसलिए आप को हमने शिलाजीत को test करने के तरीके भी बताए कि असली शिलाजीत की पहचान कैसे करें? इतना ही नहीं, आपने इस लेख में ये भी जाना कि शिलाजीत के नुकसान क्या क्या हो सकते हैं? तो उम्मीद है आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। आपसे फिर मिलेंगे एक नई जानकारी के साथ। धन्यवाद।

Previous ऑलिव ऑयल से जुड़े फायदे और नुकसान |Olive Oil Se Jude Fayde Aur Nuksaan
Next तुलसी से जुड़े 7 चमत्कारी फायदे | Tulsi Ke Fayde