सफेद मूसली के फायदे |White Musli Ke Fayde


सफेद मूसली

हमारे सभी पाठकों को हमारा प्यार भरा नमस्कार। आज हम आपसे एक और interesting topic पर चर्चा करेंगे। अगर हम आयुर्वेद के इतिहास पर नजर डालें तो हमें पता चलेगा कि आयुर्वेद में लाखों ऐसी जड़ी बूटियों का जिक्र मिलता है जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभकारी हैं। ऐसी औषधीय जड़ी बूटियां प्रकृति ने हमें वरदान में दी हैं। ये जड़ी बूटियां किसी भी बीमारी को पल भर में दूर कर देती हैं।

तो आज हम आप से ऐसी ही एक विशेष जड़ी बूटी के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं। आज हम आपको बताएंगे सफेद मूसली क्या होती है? ये कहां पाई जाती है। सफेद मूसली के फायदे क्या हैं? सफेद मूसली कितने प्रकार की होती है? इसके साथ ही हम आपको ये भी बताएंगे कि सफेद मूसली का सेवन करने के क्या नुकसान हैं? सफेद मूसली का सेवन करने के सही तरीके के बारे में भी आप जानेंगे। चलिए सबसे पहले ये जान लेते हैं कि सफेद मूसली क्या होती है?

Table of Contents

क्या है सफेद मूसली ? (What is White Musli)

दोस्तों, सफेद मूसली एक प्रकार की विशेष जड़ी बूटी है। यह जड़ी बूटी केवल भारत में ही पाई जाती है। आज तक भारत के अलावा ऐसा कोई देश नहीं है जहां पर सफेद मूसली पाई जाती हो। सफेद मूसली के फायदे अनेक हैं। 

इस जड़ी बूटी में सफेद रंग के फूल खिलते हैं। इसका प्रयोग viagra जैसी दवाओं के निर्माण में भी किया जाता रहा है। शायद आप में से बहुत कम लोग ये जानते होंगे कि आयुर्वेद के सबसे पुराने ग्रंथ राज निघंटु में सफेद मूसली  के फायदे का सबसे पहले उल्लेख मिलता है।

न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में सफेद मूसली को एक विशेष दवा के रूप में जाना जाता है। ये जड़ी बूटी आज विलुप्त होने की कगार पर आ गई है। शायद यही कारण है कि सफेद मूसली को एक दुर्लभ जड़ी बूटियों की श्रेणी में भी शामिल किया जा चुका है।

धनिया से जुड़े फायदे जाने।

अलग अलग भाषाओं में सफ़ेद मूसली के नाम (names of white musli in different languages)

आइए अब ये भी जान लें कि अलग-अलग भाषाओं में सफेद मूसली को किन किन नामों से जाना जाता है? इसे शुद्ध हिन्दी में श्वेत मूसली कहते हैं? सफेद मूसली को english language में इंडियन स्पाईडरी प्लांट (Indian Spidery Plant) कहा जाता है। 

Sanskrit भाषा में सफेद मूसली को बल्यकंदा और धवलमूली कहा जाता है। मराठी भाषा में इसका नाम है कुलई। मल्यालम भाषा की अगर बात की जाए तो इसमें सफेद मूसली को कहा जाता है सहेदेवेली। तो वहीं तेलगू भाषा में सफेद मूसली को श्वेत मूसली कहते हैं। 

Arabic language में सफेद मूसली को कहते हैं शुकाकुले हिंदी। पारसी भाषा में सफेद मूसली को शुकाकुल कह दिया जाता है। तो वहीं, तमिल भाषा की अगर हम बात करें तो तमिल भाषा में सफेद मूसली को कहते हैं तनीरवीथंग। गुजराती भाषा में सफेद मूसली को सफेद मूसली ही कहते हैं।

उर्दू भाषा में सफेद मूसली को मूसली सफेद के नाम से भी जाना जाता है। कन्नड़ भाषा में सफेद मूसली को श्वेत मूसली ही कहते हैं। दोस्तों, अभी आपने जाना कि सफेद मूसली को किन किन नामों से अलग अलग भाषाओं में जाना जाता है। आइए अब नजर डालते हैं सफेद मूसली से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में।

सफेद मूसली से जुड़े जरूरी तथ्य

  • दोस्तों सफेद मूसली को विज्ञान की भाषा में कहा जाता है Chlorophytum Borivilianum
  • जो भी आयुर्वेद का जानकार होगा वो सफेद मूसली को सफेद सोना (White Gold) तथा दिव्य औषधि के नाम से ही बुलाएगा।
  • अगर इस पौधे की प्रजाति की बात करें तो सफेद मूसली का पौधा ऐसा माना जाता है कि Liliacy परिवार से ही आता है।
  • इस पौधे का जो भाग सबसे अधिक प्रयोग में लाया जाता है वो है इसकी जड़ (Root) और बीज (Seed)।
  • सफेद मूसली का पौधा जंगलों में ही पाया जाता है।

दोस्तों, आइए अब बात कर लेते हैं कि सफेद मूसली के ऐसे कौन से गुण हैं जो हमारेे शरीर के लिए इतनी लाभकारी है सफेद मूसली।

सफेद मूसली के गुण एवं पोषक तत्व (White Musli Nutritious Value in hindi)

सफेद मूसली को पौष्टिक तत्वों का खजाना कह दिया जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। जिन तत्वों की जरूरत हमारे शरीर को सबसे ज़्यादा होती है वो सारे तत्व सफेद मूसली में पहले से ही मौजूद रहते हैं। सफेद मूसली में स्टेराॅयड, मैगनीशियम, पोटाशियम, अलग-अलग प्रकार के विटामिन्स, कार्बोहाइड्रेट्स, म्यूसिलेज, रेजिन और फिनोल तत्व पाए जाते हैं। पुरुषों की शादीशुदा जिंदगी को बेहतरीन बनाने के लिए सफेद मूसली रामबाण है।

सफेद मूसली के फायदे : (Benefits of White Musli in hindi)

Safed musli ke fayde

चलिए अब आपको बताते हैं कि सफेद मूसली के फायदे क्या हैं?

1. यौन शक्ति बढ़ाता है (Sex Power)

दोस्तों, इन दिनों हर चीज़ में competition इतना बढ़ गया है कि लोग अपनी सेहत और खान-पान पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। इसका असर वैवाहिक जीवन (married life) पर भी पड़ना स्वाभाविक है। बहुत से ऐसे पुरुष होते हैं जो किसी कारण वश अपनी partner को sex के दौरान चरम सुख देने से चूक जाते हैं। इससे उनकी partner satisfy नहीं हो पाती है।

Sex में अगर कमी हो तो बात तलाक (divorce) तक भी पहुंच जाती है। पति-पत्नी के रिश्तों में मन मुटाव का यही एक सबसे बड़ा कारण होता है। लेकिन आप घबराइए मत। अगर आपके साथ भी ऐसी समस्या है तो आज ही सफेद मूसली का सेवन करना शुरू कर दें।

इसके लगातार सेवन से आप sex problem से पूरी तरह छुटकारा पा सकते हैं और एक happy married life जी सकते हैं। अपने partner के साथ संबंध बनाने में सफेद मूसली के फायदे देखकर आप हैरान रह जाएंगे। इससे आपकी sex desire भी बढ़ती है। सफेद मूसली का अगर आप प्रयोग करेंगे तो ये आपके लिंग में मौजूद अच्छे शुक्राणुओं को भी बढ़ाता है। पुरुषों के private part को भी सफेद मूसली तंदुरुस्त बनाए रखती है।

2. गर्भधारण में मददगार (Helpful for Pregnancy)

आजकल की भागदौड़ भरी life में बहुत से ऐसे married couple हैं जो बच्चे की चाह रखते हैं। इन couples की शादी को कई वर्ष बीतने के बावजूद बच्चा नहीं हो पाता है। उन्हें कई कारणों की वजह से केवल निराशा ही हाथ लगती है। 

इतना ही नहीं, फैमली और रिश्तेआरों के ताने भी इन couples को सुनने पड़ते हैं। इस समस्या को ठीक करने के लिए आप नियमित तौर पर सफेद मूसली का सेवन करें। सफेद मूसली का इस्तेमाल करने से महिला को जल्द ही गर्भधारण करने में मदद मिलती है और बांझपन से छुटकारा मिल जाता है।

3. इम्युनिटी बढ़ाता है (Immunity System)

आज के टाइम में immunity को boost करना और immune system को ठीक रखना बेहद जरूरी है। अगर हम कोरोना से बचना चाहते हैं तो हमें रेगुलरली सफेद मूसली का सेवन करना होगा। क्योंकि अकसर ये देखने में आता है कि गलत खान-पान और नींद proper न लेने की वजह से हमारी immunity weak हो जाती है। जब immunity weak होगी तो हम जल्द ही कई सारी बीमारियों का शिकार एक साथ हो जाते हैं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए सफेद मूसली का सेवन करना हमारी सेहत के लिए लाभदायक रहेगा।

4. श्वेत पदर रोग

दोस्तों, कई बार महिलाओं में ये problem देखी जाती है कि उनके private part से सफेद रंग का बहुत ही बदबूदार तरल पदार्थ निकलने लगता है। इसे ही सफेद पदर रोग कहते हैं। जो महिलाएं इस problem को face कर रही हैं वो सफेद मूसली का regular basis पर इस्तेमाल करें। अगर किसी महिला को कई वर्षों से सफेद पानी गिरने की शिकायत है तो उसे भी सफेद मूसली का use करके रोका जा सकता है।

5. मोटापा कम करने में मददगार (Weight Loss)

आजकल लोग पैसा कमाने की होड़ में ज़्यादा लग गए हैं और अपनी सेहत पर ध्यान कम दे रहे हैं। ऐसे में ये लोग मोटापे का बहुत जल्दी शिकार हो जाते हैं। आज के समय में मोटापा एक गंभीर समस्या बन कर उभर रही है। उम्र चाहे बचपन की हो या 55 की, मोटापे ने सभी को अपनी चपेट में ले लिया है। इसका कारण है खान-पान और exercise पर ध्यान न देना। मोटापा किसी को पसंद नहीं होता। सब चाहते हैं वो slim और fit रहें। अगर आप भी मोटापे का शिकार हैं तो आज ही सफेद मूसली का सेवन करना शुरू कर दीजिए। सफेद मूसली का सेवन करने से आप बहुत जल्द मोटापे से छुटकारा पा सकते हैं।

6. मधुमेह के मरीजों के लिए लाभदायक (Diabetes)

पाठकों, आजकल हर 10 में से 5 लोगों को मधुमेह की समस्या देखी जा रही है। यह एक गंभीर बीमारी है जिसकी वजह से आपकी पूरी life spoil हो जाती है। मधुमेह की दवाओं और इसके इलाज का खर्चा उठाना आम आदमी के बस की बात नहीं है। हर वर्ष हजारों लोग मधुमेह की बीमारी के शिकार हो रहे हैं। आप भी अगर इस problem से जूझ रहे हैं तो आप सफेद मूसली का इस्तेमाल कीजिए। इससे आपकी body में insulin की मात्रा normal रहेगी और diabetes भी control होता है।

7. गर्भावस्था के समय फायदेमंद (During Pregnancy)

गर्भवति महिलाओं के लिए भी सफेद मूसली का प्रयोग करना लाभदायक है। जैसा कि आप जानते हैं गर्भावस्था का समय महिलाओं के लिए बहुत ही ज़्यादा कष्टदाई होता है। ऐसे समय में महिलाओं को अपने खान-पान पर ध्यान देना होता है। वरना इसका बुरा असर होने वाले बच्चे पर भी पड़ सकता है। ऐसे में गर्भवति महिलाओं को सफेद मूसली का सेवन करना फायदेमंद है। लेकिन उससे पहले आप अपने doctor से सलाह लें।

8. शीघ्रपतन से छुटकारा

दोस्तों, इन दिनों हर व्यक्ति की और खास तौर पर पुरुषों की जीवनशैली बेहद खराब हो गई है। काम का प्रेशर और ढेर सारा तनाव आपके sexual life पर गंभीर असर डालता है। जब भी आप सैक्स करने लगते हैं आपका वीर्य (sperm) जल्दी निकल जाता है जिसे शीघ्रपतन भी कहा जाता है। 

इतना ही नहीं, शीघ्रपतन की समस्या जिन पुरुषों को होती है वो जल्दी ही थक जाते हैं और अपने Partner को संतुष्ट नहीं कर पाते। आपको भी यही बीमारी है और आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप सफेद मूसली का सेवन लगातार करें। इससे आपकी sex life कुछ ही महीनों में अच्छी हो जाएगी। 

इसका सेवन करने से आपका वीर्य बढ़ता है और सेक्स टाइमिंग भी बढ़ जाती है। अगर वीर्य की कमी हो जाए तो इंसान नपुंसकता का शिकार भी हो सकता है। इससे निजात पाने में सफेद मूसली कारगर साबित होती है।

9. स्पर्म काउंट बढ़ाने में सहायक (Sperm Count)

बहुत से ऐसे लोग हैं जो शादी के कुछ समय बाद संतान का सुख प्राप्त करना चाहते हैं। मगर उनकी इस इच्छा में रुकावट बनता है पुरुष का Sperm Count। अगर पुरुषों में स्पर्म काउंट कम होगा तो महिला को गर्भ धारण करने में दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। स्पर्म काउंट को अच्छा करने के लिए और संतान सुख की प्राप्ति के लिए सफेद मूसली का सेवन हजारों वर्षों से शादीशुदा जोड़े करते आ रहे हैं।

10. प्रजनन के बाद फायदेमंद

केवल गर्भावस्था ही नहीं, प्रजनन के बाद भी महिलाओं को कई प्रकार की दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं। इन्हीं में से एक है दूध न बनना। बहुत सी ऐसी महिलाएं होती हैं जिन्हें स्तनों से दूध न आने की समस्या हो जाती है। ऐसी महिलाओं को चाहिए कि वे जल्द से जल्द सफेद मूसली का use करें। इससे उनकी ये समस्या जल्दी ही दूर हो जाएगी और उनके स्तनों में दूध का उत्पादन होने लगेगा। सफेद मूसली का सेवन करने से महिलाओं के शरीर में प्रजनन के दौरान जो कमी होती है उन्हें भी सफेद मूसली पूरा करती है।

11. वजन बढ़ाने में मददगार

जो लोग वजन बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए भी सफेद मूसली का सेवन करना बेनिफीशियल है। जिस प्रकार बढ़ा हुआ वजन एक गंभीर बीमारी होती है उसी प्रकार दुबला पतला शरीर भी एक बहुत अधिक गंभीर बीमारी है। जिन लोगों का वजन कम है उन्हें कई सारी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। 

इन लोगों को चाहिए कि सफेद मूसली का लगातार प्रयोग करें। सफेद मूसली में ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो वनज बढ़ाने में मदद करते हैं। आप में से बहुत कम लोग इस बात को जानते होंगे कि सफेद मूसली की जड़ों में एथेनोलिक अर्क पाया जाता है। जिससे वजन को बढ़ाने में मदद मिलती है।

सफेद मूसली खाने का तरीका (How to use Safed Musli)

दोस्तों अब एक नजर सफेद मूसली का सेवन करने के तरीके पर भी डाल लेते हैं।

  1. कैपसूल के रूप में भी अगर आप चाहें तो इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। बाजार में बहुत ही आसानी से ये कैपसूल आपको मिल जाएंगी।
  2. जो महिलाएं गर्भवति हैं उन्हें चाहिए कि वे सफेद मूसली को किसी भी प्रकार की मिठाई में मिलाकर ही खाएं। फिर भी एक बार इसके लिए डाॅक्टर से सलाह जरूर लें।
  3. अगर आप चाहें तो सफेद मूसली की जड़ों को अच्छी तरह से पीस लें। फिर इसे दूध में डालकर भी आप पी सकते हैं। इससे भी आपको फायदा पहुंचेगा।

सफेद मूसली की मात्रा

  • अगर कोई महिला गर्भवति है और सफेद मूसली का सेवन करना चाहती है तो केवल एक से दो ग्राम ही इसका सेवन करें।
  • एक से दो ग्राम सफेद मूसली का सेवन प्रजनन के बाद भी किया जा सकता है।
  • गर्भवति महिलाओं को ये ध्यान रखना है कि वे पूरे दिन में 12 ग्राम से ज़्यादा सफेद मूसली का सेवन बिलकुल न करें।
  • अगर किसी बच्चे को सफेद मूसली देना है तो इसकी मात्रा होनी चाहिए न्यूनतम 25 मिलीग्राम और अधिकतम 50 मिलीग्राम।
  • अगर 13 से 19 वर्ष के किशोर को इसका सेवन करना है तो केवल ढेड़ से दो ग्राम ही इसका सेवन करें।
  • अगर आपकी उम्र 19 से 60 वर्ष के बीच में है तो आप सफेद मूसली की 3 से 6 ग्राम खुराक का सेवन कर सकते हैं।
  • बुजुर्ग व्यक्तियों को सफेद मूसली का सेवन केवल 2 ग्राम ही करना चाहिए।

सावधानियां (Precautions)

पाठकों, अगर आप सफेद मूसली का इस्तेमाल करना शुरू कर रहे हैं तो उससे पहले कुछ सावधानियां भी जान लीजिए। सफेद मूसली को हमेशा तय मात्रा के हिसाब से ही लेना चाहिए। आप किसी भी प्रकार की बीमारी से जूझ रहे हैं और फिर भी सफेद मूसली का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप पहले अपने doctor से consult जरूर करें।

नुकसान (Side Effects)

दोस्तों, अभी तक आपने सफेद मूसली से होने वाले फायदों के बारे में जाना। अब आपको हम बताते हैं कि सफेद मूसली का सेवन करने के क्या क्या नुकसान हो सकते हैं?

  1. वैसे तो सफेद मूसली की नियमित मात्रा आपके लिए फायदेमंद है लेकिन अगर आप ज्यादा मात्रा में सफेद मूसली का सेवन करते हैं तो आपको भूख कम लगेगी। अगर आप अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आपको इसकी निश्चित मात्रा में ही आप सफेद मूसली का सेवन करें।
  2. जो लोग सफेद मूसली का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं उन्हें acidity, iching, और कब्ज (constipation) जैसी समस्या हो जाती है।
  3. ध्यान रहे कि अगर आप का sugar level पहले से ही लो है तो आप इसका सेवन बिलकुल भी न करें।

निष्कर्ष: (Conclusion)

तो दोस्तों, आज के इस लेख में आपने जाना कि सफेद मूसली का सेवन करने के क्या क्या फायदे हो सकते हैं? साथ ही आपने ये भी जाना कि इसके सेवन से आपको क्या नुकसान हो सकते हैं? इसके साथ ही सफेद मूसली से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में भी आपने जाना। उम्मीद है आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा और आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करेंगे। 

Previous धनिया से जुड़े फायदे और नुकसान |Dhaniya Se Jude Fayde Aur Nuksaan
Next ऑलिव ऑयल से जुड़े फायदे और नुकसान |Olive Oil Se Jude Fayde Aur Nuksaan