Hosting In Hindi


Hosting In Hindi

दोस्तों, हमारी website पर आपका एक बार फिर से स्वागत है| आज हम Hosting In Hindi में समझाने वाले हैं आपको अपने इस article के माध्यम से| आज हम आपको बताएंगे hosting किसे कहते हैं? क्यों पड़ती है hosting की जरूरत?

सबसे अच्छी hosting कहाँ से purchase करें? इसके अलावा हम आपको ये भी बताने वाले हैं कि domain क्या होता है? कब और कैसे इसकी जरूरत पड़ती है? हमारे साथ इस article में last तक बने रहें|

Hosting का मतलब क्या है?

अगर हम host का हिंदी में मतलब देखें तो वो होता है मेज़बान| इस हिसाब से जो मेज़बान घर पर आए मेहमान का स्वागत करता है या मेज़बानी करता है वो मेज़बान यानि host कहलाता है| इसी तरह जब internet पर कोई मेहमान आता है तो उसका स्वागत करना web host का काम होता है|

जब हमारे घर कोई मेहमान आता है तो हम उसे चाय पानी serve करते हैं, snacks serve करते हैं| इसी तरह जब कोई user हमारी website पर visit करता है तो hosting के जरिए उसको हर वो information provide की जाती है जो उसके काम की हो या जिसके बारे में वो जानना चाहता हो| ये information different formats में होती है| जैसे photo की form में, text की form में या फिर video की form में|

Hosting के प्रकार?

Internet पर कई तरह की websites मौजूद हैं| उनका काम भी अलग-अलग ही होता है| इसलिए सभी websites को किसी एक तरह की Hosting की जरूरत नहीं पड़ती है| बल्कि according to website, कई तरह की होस्टिंग कंपनियां उपलब्ध करवाती है।

Web Hosting को उनकी performance, rate, speed तथा bandwidth के आधार पर विशेष रूप से बांटा जा सकता है| वैसे तो hosting के विभिन्न प्रकार होते हैं लेकिन जो पॉपुलर hosting types हैं वो चार ही हैं|

Shared Hosting 

VPS Hosting 

Dedicated Hosting 

Cloud Hosting 

एक वेबसाइट या ब्लॉग बनाने से पहले ये जान लेना बहुत जरूरी हो जाता है की किस होस्टिंग को कब और क्यों लेना चाहिए?  आइए एक एक करके इसके बारे में जानते हैं| सबसे पहले बात करेंगे हम Shared Hosting के बारे में|

Shared Hosting : यह होस्टिंग उन लोगों के लिए बिल्कुल fit बैठेगी जो website या blog बनाना सीख रहे हैं| या उनके ब्लॉग या website पर बहुत ज्यादा traffic आनी शुरू नहीं हुई है| ये hosting की एक बहुत ही सिंपल form होती है|

अगर आप shared hosting लेते हैं तो आपको इसके लिए बहुत ही कम पैसे देने होंगे| ऐसी अलग अलग कंपनियां internet पर available हैं जो शेयर्ड होस्टिंग के लिए अपने अपने rate charge करती हैं| कुछ कंपनियों का price कम होता है और कुछ का ज्यादा|

शेयर्ड web hosting में एक बड़े server को छोटे-छोटे account में बांटा जाता है| इसके बाद एक ही server से बहुत सारी websites को host किया जाता है| अगर आपकी website पर traffic बहुत अधिक बढ़ जाता है तो यह सर्वर उस traffic को bear नहीं कर पाता है|

इस कारण अन्य websites पर कोई effect न पड़ने लगे, web hosting कंपनी आपकी website को slowdown कर देती है| आपकी website अगर new है और उसपर कम traffic आ रहा है तभी आप इस hosting को खरीदें| अगर बहुत अधिक traffic आपकी website पर आ रहा है तो बेहतर यही होगा की आप कोई अन्य विकल्प चुनें|

VPS Hosting : ऐसे लोग जिनकी website बहुत पुरानी है और internet की दुनिया के लोगों के बीच बहुत ज्यादा popular है| साथ ही आपकी site पर अगर एक दिन में हजारों की संख्या में visitors आकर visit कर रहे हैं तो आपको VPS Hosting ही purchase करना चाहिए| इसकी full form होती है : – 

V – Virtual

P – Private

S – Server

ये hosting server shared hosting के मुकाबले में बहुत ही ज्यादा पावरफुल होता है| इस hosting में भी आपकी website को एक बहुत बड़े सर्वर के अंतर्गत अन्य websites के साथ ही होस्टिंग की जाती है| अगर इसकी कीमत पर नजर डालें तो पता चलता है की VPS hosting की कीमत shared hosting के मुकाबले में थोड़ी सी ज्यादा होती है|

इसका कारण है की इसमें आपको shared hosting से ज्यादा storage capacity वाली RAM मिलती है| इसकी bandwidth भी अधिक होती है| इसके अलावा processor की performance भी कई गुना अच्छी होती है| इसका फायदा ये रहता है की जब आपकी website पर हजारों की संख्या में visitors एक साथ भी आ जाते हैं तो भी आपका server down नहीं होता है|

Dedicated Server : Friends, अब बारी आती है Dedicated Server के बारे में चर्चा करने की| इसके अंतर्गत आपको एक पूरे system का पूरा server provide कर दिया जाता है| इसका एक फायदा ये रहता है की इस server के आप खुद ही मालिक रहते हैं| यानी की इसमें आपकी website को अन्य websites के साथ hosting share नहीं करना पड़ती है| हां ये बात और है की इस server को purchase करना आपके लिए थोड़ा ज्यादा महंगा पड़ सकता है| वो लोग जो बहुत ही ज्यादा बड़ा business कर रहे हैं और उनका business काफी ज्यादा famous भी हो गया है लोगों के बीच, उन लोगों को dedicated server ही purchase करना चाहिए|

Cloud Hosting : दोस्तों, जब भी हम किसी server पर एक website को host करते हैं तो उस server की location केवल एक जगह की ही होती है| ऐसे में जो user हमसे दूर बैठा है उसे हमारी website को access करने में बहुत अधिक समय लग जाता है| जैसे suppose कीजिए कि आपने अपनी website को run करने के लिए India का server लिया है| फिर जब आपकी साइट पर America, जापान, Russia या किसी दूसरे देश से कोई भी visitor आपकी website पर visit करता है तो क्योंकि वहां server नहीं है तो आपकी website को वहां पर खुलने में काफी ज्यादा समय लग जाएगा| जब भी website को open होने में time लगता है तो कोई भी user उसके खुलने की wait में रुका नहीं रहता है| ऐसे में विजिटर आपकी website से वापिस चला जाता है। लेकिन Cloud Hosting अलग अलग सर्वर का एक समूह है| इसके सरवर अलग-अलग जगहों पर होते हैं| इन servers पर ही आपकी website का सारा डाटा save किया जाता है| जब आपकी website पर जापान या अमेरिका कहीं से भी visitor आता है तो आपकी website पर content पढ़ने के लिए उसे ज्यादा समय नहीं लगता है| क्यूंकि cloud hosting के जरिए अमेरिका के ही पास के किसी और सर्वर से उस visitor को access दे दिया जता है| इस प्रकार आपकी website जल्दी खुल जाती है| इसके अलावा अलग अलग server होने कारण अगर किसी भी एक server को कोई नुकसान [पहुंचता है तो भी आपकी site smoothly ही चलती है| उसपर इसका कोई असर नहीं पड़ता है|

इन बातों को ध्यान में रखकर लें hosting

होस्टिंग लेने से पहले कुछ जरूरी बातों का पता होना बहुत जरूरी हैं क्योंकि गलत होस्टिंग का चुनाव आपकी वेबसाइट के लिए बिल्कुल भी सही नहीं रहेगा| होस्टिंग लेने से पहले किन बातों का ध्यान रखना है आइए हम बताते हैं आपको इसके बारे में|

किसी भी कंपनी से होस्टिंग खरीदने से पहले आपको ये देखना बहुत जरूरी है की वह होस्टिंग कंपनी कितनी पुरानी है क्योंकि नई वेब होस्टिंग कंपनी पर भरोसा करके उसकी होस्टिंग यूज़ करना एक रिस्क भरा काम हो सकता हैं।

नई वेब होस्टिंग कंपनी जो ज्यादा पॉपुलर और वास्तविक कंपनी नहीं है उससे वेब होस्टिंग न ही खरीदे तो आपके लिए सही रहेगा इस तरह की कंपनियों के द्वारा दी गयी सर्विस की कोई गारंटी नही होती हैं।

होस्टिंग कंपनियां दो तरह के सर्वर उपलब्ध करवाती है पहला linux और दूसरा विंडोज विंडोज सर्वर linux के मुकाबले महंगे होते हैं जबकि lynux एक ओपन सोर्स सर्वर हैं और यह विंडोज के तुलना में सस्ता और अच्छा होता है।

वेबसाइट की RAM और SSD Disk Space जितना ज्यादा होगा उतना ही अच्छी है इससे आपकी साईट बहुत ही कम समय में load हो जाती है। Web Hosting Company का Support बहुत ही अच्छा होना चाहिए और यह 24×7 होना ही चाहिए है जिससे जब कभी भी आपकी साइट में कोई problem आती है तो आप लाइव सपोर्ट से मदद ले सकते है।

Cpanel से किसी वेबसाइट को मैनेज करना बहुत ही आसान हो जाता है लगभग सभी होस्टिंग कंपनी फ्री में Cpanel देती है तो होस्टिंग लेने से पहले ये जरूर देखे की आपको फ्री में Cpanel दिया गया है या नहीं।

वेब होस्टिंग को खरीदते समय अच्छी Ram, SSD Disk Space, Cpanel, SSL सर्टिफिकेट, Bandwidth, UPtime, Daily Backup, Email, Monthly visitor, CDN, वेबसाइट की संख्या जैसी चीजों पर ध्यान देना बहुत जरूरी होता है।

होस्टिंग खरीदते समय सर्वर की लोकेशन बहुत मायने रखती है अगर आप इंडिया के रहने वाले हैं तो आपको इंडिया का सर्वर ही लेना चाहिए जिससे इंडिया के विजिटर जब आपकी साइट पर आते हैं तो सर्वर इंडिया में होने की वजह से आपकी साइट को लोड होने में ज्यादा टाइम नहीं लगता है।

किसी वेबसाइट के लिए उसका अपटाइम बहुत मायने रखता है किसी होस्टिंग का अपटाइम कम से कम 99.99% होना ही चाहिए अगर आपने ऐसी कंपनी से होस्टिंग ले ली जिसका सर्वर डाउन रहता है तो आपकी साईट या ब्लॉग की रैंकिंग बहुत कम हो जाएगी।

निष्कर्ष (Conclusion)

तो दोस्तों, आज हमने आपको Hosting In Hindi में इसलिए समझाया ताकि आपको ये बहुत ही आसानी से पता लग सके कि आखिर ये hosting क्या होती है| हमने आपको ये भी बता दिया है की होस्टिंग की जरूरत क्यों पड़ती है| इसके अलावा हमने अपने इस article में आपको ये भी जानकारी दे दी है की कौन सी होस्टिंग कब खरीदनी चाहिए| अगर आपको हमारा ये article पसंद आया हो तो आप इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक share करें| ताकि वो भी Hosting In Hindi में समझकर अपना business start कर सकें या फिर अपनी website को अच्छी तरह से चला सकें|

आर्टिकल्स भी जरूर पढ़े-:

mi kaha ki company hai
गिलोय की लकड़ी के फायदे
पीरियड के कितने दिन बाद संबंध बनाना चाहिए
महिलाओं के लिए अलसी के फायदे
चेहरे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है

There is no more story.
Next The Difference Between Jail and Prison