History Of Computer In Hindi


History Of Computer In Hindi

दोस्तों, आज हम आपको बताने वाले हैं History Of Computer In Hindi में| आज हम मोबाइल को एक second के लिए भी अपने हाथों से दूर नहीं रखते हैं| इतना ही नहीं, computer पर दिन भर गाने सुनते हैं, movie देखते हैं, internet की मदद से हर जानकारी प्राप्त कर पा रहे हैं|

लेकिन आज से कुछ वर्षों पहले ऐसा बिलकुल भी नहीं था| इंटरनेट की बात तो छोड़ ही दीजिए, कंप्यूटर तक के बारे में किसी ने सोचा नहीं था| फिर धीरे धीरे परिवर्तन होता गया| तब 1833 के बीच चार्ल्स बेबेज ने आविष्कार किया एक ऐसी अनोखी चीज़ का जिसने आज के इंसान की दुनिया ही बदल कर रख दी है|

ऐसा मानकर की सबसे पहले चार्ल्स बैबेज ने ही computer का आविष्कार किया है पूरी दुनिया उन्हें Father of Computer के नाम से जानती है| मगर कुछ लोग इस बात से इत्तेफाक नहीं रखते हैं|

कुछ लोगों का मानना है की चार्ल्स बेबेज को Father of Computer नहीं कहा जा सकता है| ये तो आप जानते ही हैं की father of कंप्यूटर कौन है लेकिन क्या आपने मदर of computer के बारे में सुना है? नहीं सुना तो चलिए हम बताते हैं|

Lady Ada को Mother of Computer कहा जाता है| क्योंकि उन्होंने ही चार्ल्स बैबेज के साथ मिलकर programing schedule की थी| इनका पूरा नाम है Augusta Ada Byron| इन्हीं को Countess of Lovelace भी कहा जाता है|

क्यों हुआ था computer का आविष्कार?

दोस्तों, computer का आविष्कार मैथ के बड़े-बड़े problems को solve करने के लिए किया गया था| पहले के जमाने में लोग मैथ के बड़े बड़े equations को घंटों बैठ कर solve किया करते थे| जिससे दिमाग भी थक जाया करता था और साथ ही साथ time की भी बहुत ज्यादा wastage होती थी|

इसी के समाधान के लिए London के mathematician और Father of Computer कहे जाने वाले चार्ल्स बैबेज ने computer का आविष्कार किया था| फिर जिन equations को solve करने में लोगों को घंटों का समय लगता था वो काम बस कुछ ही मिनटों में हो जाता था|

अपने इस आविष्कार का नाम उन्होंने Different Engine रखा| पैसे की कमी के चलते ये इतना कामयाब नहीं रहा| फिर उन्होंने Analytical Engine 1992 में बनाया| पहले की अपेक्षा इसमें कुछ सुधार किए गए थे|

Computer का इतिहास और विकास

दोस्तों computer का इतिहास आज से करीब 3000 साल पुराना है|

सबसे पहले चीन में ही 1622 में abacus नामक यंत्र बनाया गया जो गणना करने का काम करता था|

आज भी जापान, चीन तथा एशिया के कई देशों में इसका गणना करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है|

17वीं शताब्दी में France के गणितज्ञ ब्लेज़ pascal ने एक यंत्र का अविष्कार किया था| इसका अविष्कार उन्होंने 1642 में किया था| इसे adding machine कहते थे| यह केवल जोड़ने का काम कर सकता था|

इसके बाद 1694 में लेबनीज़ ने pascal के calculator में सुधार कर के एक यांत्रिक calculator बनाया|

Difference Engine की कुछ विशेषताएं

दोस्तों, computer के पितामह, computer के जनक या फिर Father of Computer ने जो Difference Engine के नाम से दुनिया का पहला computer बनाया था उसमें gear और shaft लगे हुए थे|

ये computer भाप की मदद से चलता था|

इस computer का size बहुत ही बड़ा था|

इसे बनाने का पूरा खर्च british सरकार ने वहन किया था|

विश्व का पहला electronic digital computer कौन सा है?

ABC Computer (Atanasoff Berry Computer) ही दुनिया का पहला electronic digital computer है जिसे 1945 में बनाया गया था|

Computer से जुड़ी Termnalogy

EDSAC : Electronic Delay Storage Automatic Computer 

EDVAC : Electronic Discrete Variable Automatic Computer

UNIV AC : Universal Automatic Computer

ENIAC : Electronic Numerical Integrator And Calculator

FORTRAN : Formula Translation

COBOL : Common Business Oriented Language

ANSI : American National Standard Institute

RAM : Random Access Memory

ROM : Read Only Memory

CD : Compact Disk

VGA : Video Graphic Adapter

DVD : Digital Versatile Disk

VCD : Visual Compact Disk

HDD : Hard Disk Drive

CPU : Central Processing Unit

ALU : Arithmetic and Logical Unit

UPS : Uninterrupted Power Supply

दोस्तों, आज हम आपको computer kya hai, types of computer in hindi, generation of computer in hindi, characteristics of computer in hindi इन सब के बारे में detail में अपने इस article के माध्यम से बताने वाले हैं| लेकिन उससे पहले ये भी जान लीजिए की computer की full form क्या है? क्यूंकि कुछ लोग नहीं जानते हैं की computer की full form क्या है?

आज आप जानेंगे History Of Computer In Hindi में| अब आपको google असिस्टेंट से पूछने की जरूरत नहीं पड़ेगी की History Of Computer In Hindi में कैसे समझें|

Full Form of Computer

C – Commonly

O – Operated

M – Machine

P – Particularly

U – Used for

T – Trade

E – Education and

R – Research

आधुनिक computer का जनक किसे कहा जाता है?

एलन Turing को आधुनिक कम्प्यूटर का जनक कहा जाता है|

Computer बनाने वाले विश्व की प्रथम कंपनी कौन सी है?

कंप्यूटर बनाने वाली विश्व की पहली company का नाम है IBM Company|

कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहते हैं?

Computer को हिंदी भाषा में संगणक कहा जाता है|

Computer से मिलने वाले फायदे

समय की बचत

कंप्यूटर के इस्तेमाल से जो काम एक घंटे में पूरा होना होता है उसमें बस कुछ मिनटों का ही समय लगता है| इससे समय की काफी बचत होती है| उदाहरण के तौर पर अगर हम देखें तो computer के आविष्कार से पहले लोग बैंकों से जुड़े सभी काम हाथ से ही किया करते थे| इससे एक तो हिसाब में गड़बड़ी होने के chances रहते थे और साथ ही समय भी बहुत waste हो जाता था|

संचार का अच्छा माध्यम

एक computer पर internet की सेवा आप बिना रोक टोक के इस्तेमाल कर सकते हैं| आप दूर बैठे अपने परिजनों से और दोस्तों से video chat, messaging, email के माध्यम से contact कर सकते हैं| साथ ही आप दूसरों के द्वारा भेजी गई files को बड़ी ही आसानी से देख सकते हैं|

आप अगर चाहें तो online ही internet पर समाचार पढ़ सकते हैं या कोई भी news की video देखकर aware हो सकते हैं की आपके आस पास कौन कौन सी घटनाएं घटित हो रही हैं| online ही घर बैठे ही आप पढ़ाई भी कर सकते हैं|

या फिर आप चाहें तो youtube पर डलने वाली videos की मदद से बहुत कुछ सीख सकते हैं जो आपको life में कभी न कभी काम आएगा|

किसी भी संसाधन को share करने के लिए best option है computer

ये सुविधा बड़ी कंपनियों के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक है| यहां हमारा मतलब MNC से है यानी की Multi National Company|

इन कंपनियों के पास हजारों employes होते हैं| साथ ही इन कंपनियों की branches भी अलग अलग जगह होती हैं जहां और भी हजारों employes काम कर रहे होते हैं| ऐसी condition में computer ही एकमात्र जरिया बनता है सभी employees तक एक ही समय में कोई भी विशेष जानकारी सभी तक साझा करने का|

Easy To Buy है

Friends, आप जानते ही हैं computer एक easy to buy यंत्र है| यानी की इसे आप बड़ी ही आसानी से और सस्ते दामों पर खरीद सकते हैं| एक अच्छा computer आपको किसी भी computer की दुकान से मिल जाएंगे| इसके लिए आपको करीब 25000 रुपए देने होंगे|

अगर आपके पास urgently इतने पैसे नहीं हैं और आपको computer की बहुत need है तो आपको कुछ शर्तों के साथ loan भी मिल जाएगा| कंप्यूटर को आप जरूरत के अनुसार assemble भी करवा सकते हैं जिससे आपके कुछ और पैसे बच जाएंगे|

कुछ लोगों को CD Writer जैसी computer accessories की जरूरत नहीं होती है| उन लोगों के लिए best option यही है की वो computer को assemble करवाएं और जो accessories नहीं लेनी हैं उन्हें न लगवाएं|

Types of Computer

Microcomputer

Mainframe Computer

Analog Computer

Digital Computer

Hybrid Computer

General Purpose Computer

Super Computer

Mini Computer

Special Purpose Computer

Computer की भाषाएँ

Pascal

C++

C

Java

Binary

HTML

PHP

CSS

Javascript

Python

Assembly Language

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों, आज हमने आपको History Of Computer In Hindi में समझाया| हो सकता है History Of Computer In Hindi google में search करने पर आपको कुछ और results भी मिलें| लेकिन हमने जिस विस्तार से आपको History Of Computer In Hindi में बताया है इतनी detail में शायद ही आपको कहीं और जानने को मिल पाए|

हमने आपको ये भी बता दिया की computer का जनक किसे कहते हैं| आपको Mother of Computer के बारे में भी हमारे इस article में जानने को मिल गया होगा| उम्मीद है आपको हमारा article पसंद आया होगा| इसे social मीडिया पर भी share करें|

ये आर्टिकल्स भी जरूर पढ़े-:

MI Kaha Ki Company Hai Ke Baare Me Jaaniye
Realme Kaha Ki Company Hai और इसका मालिक कौन है ?
Diwali Quotes In Hindi
Varnmala in Hindi
Hanuman Chalisa Lyrics PDF

There is no more story.
Next The Difference Between Jail and Prison