गिलोय के फायदे दैनिक जिंदगी में |Giloy Ke Fayde


Giloye ke fayde

नमस्कार दोस्तों। स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर। दोस्तों, nature ने हमें बहुत सारे उपहार दिए हैं। इनमें से एक हैं औषधीय पौधे। आज हम उन्हीं medicinal plants में से एक गिलोय के magical benefits के बारे में आपसे चर्चा करने वाले हैं।

गिलोय के फायदे इतने हैं कि गिनवाने लगे तो सुबह से शाम हो जाए। जिन लोगों को गिलोय के फायदे के बारे में पता नहीं है वो कहते हैं गिलोय के फायदे हैं ही नहीं। वो तो बहुत कड़वा होता है। शायद वो इस बात को मानना ही नहीं चाहते कि गिलोय के फायदे ढेर सारे हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि गिलोय के फायदे क्या हैं? 

सबसे पहले ये जान लीजिए कि गिलोय की लकड़ी हमें किस प्रकार फायदा पहुंचाती है।

यदि आप राजनीति से सबंधित जानकारी लेना चाहते है तो ये जरूर पढ़े।

गिलोय के फायदे 

दोस्तों, Ayurveda विज्ञान में गिलोय को अमृत के समान माना गया है। जो भी गिलोय का सेवन किसी भी रूप में करता है उसे बीमारियां कभी छू नहीं सकतीं हैं। गिलोय में ऐसे elements मौजूद होते हैं जो हमें तेज बुखार, जुखाम व खांसी से बहुत जल्दी राहत पहुंचाते हैं जिसके कारण गिलोय के फायदे अनेक है।

बुखार का नाश करने के कारण ही गिलोय का एक नाम antipyretic भी पड़ा है। गिलोय की छाल, लकड़ी, पत्ते, जड़ें आदि में विभिन्न प्रकार के nutritive elements पाए जाते हैं। ये हमें किसी भी बीमारी से लड़ने में मदद करते हैं।

हमारे Scientists का मानना है कि अगर घर में गिलोय का पेड़ नीम के पेड़ के पास लगाया गया हो या फिर उसके साथ ही जुड़ा हो तो ये सोने पे सुहागा वाली बात है। अगर आप गांव से Belong करते हैं तो आपने ये जरूर देखा होगा कि वहां आज भी गिलोय का इस्तेमाल किया जाता है।

वैसे तो आपको हर खाने की वस्तु इस्तेमाल करने से पहले अच्छी तरह धो लेनी चाहिए। लेकिन गिलोय एक ऐसी औषधि है जिसे आप बिना धुले भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपके लिए harmful नहीं होगा।

कहां करें गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल  

गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल आप चाय बनाने के दौरान कर सकते हैं। जब चाय बना रहे हों तो उसमें एक छोटी सी गिलोय की लकड़ी भी डाल दें। इससे दो फायदे होंगे। एक तो चाय का स्वाद बढ़ जाएगा और आपकी सेहत भी ठीक रहेगी। गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल आप काढ़े में भी कर सकते हैं। अगर आप अपनी Immunity Boost  करना चाहते हैं तो आपको गिलोय की लकड़ी का प्रयोग जरूर करना चाहिए।

गिलोय की लकड़ी के फायदे

आँखों की रौशनी ठीक करें 

ये दुनिया कितनी रंगीन और खूबसूरत है इसका पता हम केवल आंखों से ही लगा सकते हैं। जिन लोगों की आंखों की रोशनी किसी कारण वश चली गई है उनके जीवन में अंधेरा ही अंधेरा हो जाता है। अपनी आंखों का ख्याल रखना हमारे लिए बहुत जरूरी है।

आपको अगर आंखों की रोशनी बढ़ानी है तो आप गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल करें। क्योंकि गिलोय कड़वा होता है, तो हो सकता है आप इसे इसके मूल रूप यानी लकड़ी का प्रयोग न कर पाएं। तब आपको अपने दिमाग की बत्ती जलानी है और इस लकड़ी को पीस कर पाउडर बना लें। फिर आप गुनगुने या कोसे पानी में गिलोय का पाउडर मिलाकर सेवन करें।

Diabetes को कंट्रोल करें 

जो लोग diabetes से पीड़ित हैं। उनके लिए तो गिलोय की लकड़ी रामबाण की तरह है। गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल अगर आप करते हैं तो आपका Sugar level balance रहता है। आप चाहें तो गिलोय की लकड़ी को पानी में उबाल कर उसका पानी पी सकते हैं। या फिर अपनी चाय या Coffee में इसका Powder भी मिला सकते हैं। इससे वाकई आपको काफी ज़्यादा फायदा पहुंचेगा।

बुखार को करे ठीक 

Friends अगर आप बुखार से परेशान हैं तो इसमें भी गिलोय की लकड़ी आपके बहुत काम आएगी। जब भी कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है तो सबसे पहले बुखार ही उसे अपनी चपेट में लेता है। अगर आप बुखार से जल्द छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप गिलोय की लकड़ी लीजिए।

उसे आप गर्म पानी में डाल दीजिए। फिर बीमार व्यक्ति को इस पानी का सेवन करने को कहें। आप देखेंगे कि उसका बुखार तुरंत गायब हो जाएगा और वो ठीक हो जाएगा।

पतंजलि गिलोय Juice के फायदे 

गिलोय एक प्रकार की बेल है। इसके पत्ते पान के आकार के होते हैं। गिलोय को छिन्न रोहन, चक्रांगी, अमृता, गुच्छ और गुड़ुची के नाम से भी जाना जाता है। इसका अंग्रेजी में नाम है Tinospora Cordifolia पतंजलि गिलोय Juice अगर आपको लेना है तो ये आपको 500ML की Packing में मिल जाएगा।

यह आपको 90 रुपए में मिल जाएगा। करीब एक साल तक यह पतंजलि गिलोय juice एक्सपायर नहीं होगा। आप चाहें तो इसे मार्केट में पतंजलि स्टोर या किसी भी केमिस्ट शॉप से खरीद सकते हैं। या फिर आप चाहें तो इसे ऑनलाइन भी मंगवा सकते हैं। 

जैसा कि आपने सुना ही होगा terms and conditions apply  तो इसके साथ भी term and condition दी जाती है। गिलोय की बोतल पर साफ-साफ लिखा होता है कि इसे खोलने के बाद कम से कम एक महीने के अंदर उसे खत्म कर लें। इसके बाद अगर आपने इसे इस्तेमाल किया तो यह खराब हो जाएगा और आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंच सकता है। यूज करने से पहले इसे अच्छी तरह से शेक कर लेना चाहिए। इसे डायरेक्ट सनलाइट में बिलकुल नहीं रखना चाहिए।

आइए अब इसके फायदों के बारे में जान लें।

  • इसका पहला और सबसे खास फायदा यह है कि जिन लोगों की immunity weak है। जो बार बार बीमार पड़ जाते हैं। जिन्हें खांसी, बुखार और सर्दी की समस्या होती रहती है। उनके लिए तो गिलोय juice फायदों की खान है और रामबाण साबित होता है। अगर ऐसे लोग इसका लंबे समय तक प्रयोग करेंगे तो उनकी immunity बढ़ जाएगी और उनका शरीर बीमार नहीं पड़ेगा।
  • Medical science के अनुसार हमारे शरीर में तीन प्रकार के दोष पाए जाते हैं। जो हैं वात, पित्त और कफ। गिलोय इन तीनों दोषों का नाश करती है इसलिए इसे त्रीदोषक भी कहा जाता है। इसकी तासीर न तो ठंडी होती है और न ही गर्म होती है।
  • इसके अलावा आप ने अकसर देखा होगा कि कुछ लोगों की Platelets  या अन्य बीमारी में बड़ी तेजी से नीचे गिरने लगती है। एक स्वस्थ शरीर के लिए 2 से 4 लाख के बीच हमारे शरीर में Platelets  होने ही चाहिए। कहा जाता है कि अगर 20 हजार से कम Platelets  रह जाएं तो जान का खतरा बना रहता है। लेकिन गिलोय juice ऐसी जादू की छड़ी है जिसे पीते ही जिस व्यक्ति के 4 हजार platelets भी रह जाएं वो भी बहुत जल्द स्वस्थ हो जाता है।
  • Weight loss, यानी जो लोग वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए भी गिलोय juice काफी फायदेमंद होता है।
  • जिन लोगों को Diabetes  है उनके लिए भी गिलोय juice  किसी वरदान से कम नहीं होता है।
  • hormonal imbalance से परेशान लोगों, Constipation की शिकायत वाले लोगों के लिए भी गिलोय juice लाजवाब औषधि है।
  • महिलाओं के केस में, जिसका uterus में Cyst है उनके लिए यह काफी रामबाण है। इसके इस्तेमाल से उनकी cyst अपने आप खत्म हो जाती है।
  • जिन लोगों को जोड़ों में दर्द रहता है, Arthritis है, चलने में तकलीफ है उन्हें भी गिलोय juice का सेवन करना चाहिए।
  • जिन लोगों को Asthma की शिकायत है या शरीर में किसी भी प्रकार की nutrients की कमी है तो वो इसका इस्तेमाल करें। उन्हें बहुत जल्द लाभ मिलेगा।
  • जिन लोगों के शरीर में किसी भी तरह का infection है इसके लिए भी गिलोय juice का इस्तेमाल फायदेमंद होता है।
  • Skin की समस्या अगर किसी को है या शरीर में काफी ज़्यादा टॉक्सिंस हैं तो उन्हें भी गिलोय juice का प्रयोग करने को कहा जाता है।
  • गिलोय juice का इस्तेमाल उन लोगों को भी करना चाहिए जो किसी भी प्रकार के Cancer से जूझ रहे हैं। इसमें Cancer से लड़ने की ताकत होती है।
  • Digestion अच्छा करने के लिए भी यह लाभदायक है।
  • गिलोय juice के नियमित इस्तेमाल से gas और acidity दूर होती है।

Patanjali Giloy juice

Patanjali giloy juice

Pros of giloy juice

  • Fast Delivery
  • Good for immunity Boosting
  • Good for health and fight against diseases

Cons of giloy juice

  • Delivery charges are very costly.
  • Expensive Product

कैसे करें इसका प्रयोग ?

चलिए अब जानते हैं कि इसका प्रयोग कैसे करना है:

दोस्तों, जैसा कि गिलोय juice की bottle पर लिखा भी होता है। आपको इसका इस्तेमाल खाली पेट करना है। इसके लिए आपको 15-25 ML juice को equal quantity में पानी के साथ लेना है। बेहतर यही होगा कि आप किसी Doctor के पास ये लेकर जाएं और उनकी सलाह से ही गिलोय juice का इस्तेमाल करें। अगर आप खाने के बाद इसका प्रयोग करना चाहें तो आप 30 से 40 मिनट के अंदर इसका प्रयोग कर सकते हैं। जो बच्चे 15 वर्ष से कम उम्र के हैं उन्हें केवल 5 से 10 ML ही गिलोय juice देना चाहिए।

किन्हें इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए

  • दोस्तों, 6 से 7 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को गिलोय juice नहीं देना चाहिए।
  • Pregnant महिलाओं को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर किसी को कोई serious बीमारी है और वह उसकी दवाई ले रहा है तो उस दौरान भी उसे इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

गिलोय घनवटी

दोस्तों, अब आपको हम बताने जा रहे हैं गिलोय घनवटी के फायदे। चलिए सबसे पहले बात कर लेते हैं इसके Price की। इसकी कीमत market में है 100 रुपए। एक डिब्बे में आपको 40 ग्राम गिलोय घनवटी की गोलियां मिलती है। बात करें इसकी मात्रा की तो इसमें जो टेबलेट है वो 500 mg की होती है। इस Tablet को गिलोय के तनों का प्रयोग करके बनाई गई है। यह एक Ayurveda medicine का काम करती है।

अब जानते हैं इसके अद्भुत फायदों के बारे में

  • अगर किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार का fever है जैसे Viral fever या bacterial fever, Dengue का बुखार हो या chikungunya का बुखार, swine flu का बुखार हो या कोई अन्य बुखार, गिलोय घनवटी उसे चुटकियों में ठीक कर देती है।
  • इसका सेवन करने से हमारा immune system बढ़ता है। अगर हमारा इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होगा तो पहले तो हमारे पास कोई रोग नहीं फटकेगा। दूसरा, अगर हमें कोई रोग हो भी जाए तो उससे हम आसानी से लड़ सकेंगे और ठीक हो सकेंगे।
  • अगर आप गिलोय घनवटी Tablet का सेवन करते हैं तो इससे आपका Platelets count भी बढ़ जाता है। आपने अकसर ये सुना होगा कि जब भी किसी को dengue होता है तो डॉक्टर ये बोलते हैं कि आपकी Platelets count कम हो गई है। इस condition में आपको गिलोय घनवटी लेना चाहिए ताकि आपके platelets तेजी से बढ़ें।
  • अगर किसी के शरीर में Metabolism weak होता है तो उसे strong करने और maintain रखने में भी यह मदद करता है।
  • यह tablet हमारे शरीर में energy level को भी boost  करती है।
  • Liver या फिर Uric acid के लिए भी गिलोय घनवटी का कोई जवाब नहीं।
  • जिनको Arthritis की problem हो, Diabetes या High blood pressure की शिकायत हो उनके लिए भी गिलोय घनवटी सबसे फायदेमंद है।
  • Cholesterol अगर हमारे शरीर में बढ़ जाए तो यह काफी दिक्कत करता है। इसे maintain रखने में गिलोय घनवटी tablet effective है।

कैसे करें गिलोय घनवटी का प्रयोग ?

आइए अब इस पर भी नजर डाल लेते हैं कि इस tablet  का प्रयोग कैसे करना है।

  • अगर आपकी उम्र 12 साल से ऊपर है तो आप एक tablet  दो बार ले सकते हैं।
  • अगर आपकी उम्र 5 से 12 साल के बीच में है तो आप ये tablet आधी-आधी ले सकते हैं। वो भी दिन में दो बार।
  • अगर आपके बच्चे की उम्र 5 साल से नीचे है तो उस condition में आप पहले doctor की सलाह लीजिए।
  • वैसे तो इस tablet को महिला या पुरुष कोई भी ले सकता है। लेकिन Pregnant महिला को इसका सेवन करने से पहले अपने doctor से consult करना चाहिए।

कब तक लें गिलोय घनवटी ?

दोस्तों, अगर आपको बार-बार fever आता है, या फिर आपकी physical condition उतनी अच्छी नहीं है। तो कम से कम तीन महीने या फिर अपने Doctor के consultation पर इस tablet को लें। अगर आपको लगे कि पहले के मुकाबले आपका immune system strong हो चुका है तो इसे आप बंद कर सकते हैं। क्योंकि किसी भी चीज का ज्यादा सेवन करना ठीक नहीं है। Seasonable मौसम में आप इसका प्रयोग कर सकते हैं। क्योंकि इस दौरान आपकी body में कई सारे changes आते हैं और आपको कई सारे रोग घेर लेते हैं। ऐसे में इसका सेवन लाभकारी होगा।

कहां मिल सकती है ये tablet ?

Patanjali giloy ghanvati

Pros of giloy ghanvati

  • Enhances immunity system.
  • Purify Blood
  • Helpful in hand or leg burning
  • Fast delivery

Cons of giloy ghanvati

  • If you have any stomach related problems please don’t consume it.
  • Pregnant women should avoid
  • Avoid if you have sugar problem

इस tablet को लेने के लिए आप अपने नजदीकी Patanjali Store जा सकते हैं। Medical Store या फिर online भी इसे आप मंगवा सकते हैं।

अब बारी है गिलोय के पत्तों के फायदे बताने की।

गिलोय के पत्तों के फायदे (Benefits of Giloy Leaves)

  • गिलोय की बेल जितनी फायदेमंद है उसका पत्ता उससे भी ज़्यादा फायदेमंद है। कुछ लोग गिलोय की जड़ का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन उसके पत्ते को बेकार समझ कर बाहर फेंक देते हैं। गिलोय के पत्ते में ऐसे elements पाए जाते हैं जिससे हम 80 वर्षों तक स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकते हैं।
  • गिलोय के पत्ते में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो आपके शरीर के cancer cells को खत्म करके आपके शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। इसके निरंतर सेवन से आपको cancer होने का खतरा बिल्कुल खत्म हो जाता है। अगर आप cancer से बचना चाहते हैं तो रोज सुबह गिलोय के पत्ते का सेवन खाली पेट करें।
  • इसके अलावा एक और बीमारी है जिसमें गिलोय का पत्ता कारगर साबित होता है। वो है मोटापा कम करने में। दोस्तों, मोटापा कम करने के लिए हम क्या-क्या नहीं करते। जिम जाते हैं, सैर करते हैं, योग करते हैं, यहां तक कि खाना खाना भी बहुत कम कर देते हैं। अगर तरह-तरह के नुस्खे अपनाकर और dieting करने पर भी आपको कोई आराम नहीं मिल रहा तो आपके लिए गिलोय के पत्ते का सेवन करना किसी अमृत के समान है। आपको सुबह खाली पेट 1 से 2 गिलोय के पत्ते का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आपके शरीर में metabolism rate बढ़ जाएगा और साथ ही आपका fat कम हो जाएगा। इसके पत्ते का सेवन करने भर से काम नहीं चलेगा। आपको दिन में किसी भी समय 40 से 45 मिनट exercise भी करना होगा। एक महीने में ही आपको चौंकाने वाले result मिल जाएंगे।
  • Heart Problems के लिए गिलोय के पत्ते को काफी ज़्यादा beneficial माना जाता है। इसलिए Doctor भी heart के सभी patients को गिलोय के पत्ते का सेवन करने की सलाह देते हैं। ऐसा करने से हमारा cholesterol balance रहता है और हमें heart disease का खतरा नहीं रहता है।
  • गिलोय के पत्तों में कुछ ऐसे magical elements पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में मौजूद blood को Purify करते हैं। यानी हमारे खून में जमा गंदगी को ये बाहर निकाल देता है। जिन लोगों को खून की कमी है वो भी गिलोय के पत्ते का निरंतर सेवन करें।
  • कील मुहासे का मुख्य कारण होता है खून में मौजूद गंदगी या फिर constipation की समस्या। अगर आप गिलोय के पत्ते का इस्तेमाल करते हैं तो ये दोनों समस्या जल्द ही दूर हो जाती है। कुछ ही दिनों में आप देखेंगे कि आपके कील मुहासे हमेशा के लिए खत्म हो गए हैं। अगर आप कई बार महंगी क्रीम और दवाई का इस्तेमाल करके थक चुके हैं तो एक बार लगातार गिलोय के पत्ते का सेवन करके भी देखिए आपको जरूर लाभ होगा।
  • गिलोय के पत्तों का सेवन करने से हमारी आंखों की रोशनी भी बढ़ती है। यदि किसी को चश्मा लगा है या आंखों की रोशनी कम है तो वो सुबह खाली पेट गिलोय के पत्तों का सेवन जरूर करें। निरंतर दो तीन महीने तक अगर आप इसका सेवन करते हैं तो आपकी आंखों का चश्मा भी हट जाएगा।
  • गिलोय के पत्ते आपको पेट से संबंधित हर प्रकार की बीमारी से बचाते हैं। जैसे constipation, indigestion, abdominal cramps etc.
  • आज कल तीस साल की उम्र को पार करते ही लोगों को जोड़ों में दर्द या गठिया की शिकायत होने लगती है। अगर आप गिलोय के पत्तों का सेवन करते हैं तो ऐसा करने से केवल 10 दिनों में ही आपको गठिया से आराम मिल जाएगा। जोड़ों के दर्द के मरीजों के लिए ये रामबाण का काम करता है।
  • गिलोय के पत्तों का सेवन करने से आपका टीबी का रोग भी दूर हो जाता है। अगर आपको भी टीबी की समस्या है तो रोज सुबह उठकर खाली पेट गिलोय के पत्तों का सेवन करना चाहिए।
  • गिलोय के पत्तों का सेवन करने से आपके शरीर में किसी भी प्रकार का बुखार नहीं आएगा। साथ ही आप खांसी, जुकाम और सिरदर्द से भी बचे रहेंगे।
  • गिलोय के पत्ते पीलिया के रोग को दूर करने में भी कारगर है। अगर आप लगातार सात दिनों तक गिलोय के पत्तों का सेवन करेंगे तो आपकी पीलिया की समस्या दूर होगी। यह एक आजमाया हुआ बेस्ट तरीका है।

नीम गिलोय तुलसी के फायदे 

दोस्तों, आपने अक्सर ये सुना होगा कि ‘‘चिंता चिता समान है।’’ आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों को कई प्रकार के मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है। इसे दूर करना बेहद जरूरी है। इसी में हमारी मदद करता है डाबर का नीम, गिलोय और तुलसी जूस। इसमें तीनों के फायदे होते हैं। यह juice हमारी थकान को भी दूर कर देता है।

इस juice में नीम की भी पर्याप्त मात्रा होती है। जैसा कि आप जानते ही होंगे नीम दुनिया भर में अपने गुणों के लिए प्रसिद्ध है। इसमें रोगों से लड़ने और उसे खत्म करने की क्षमता होती है। कील-मुहांसों को दूर करने के लिए भी पारंपरिक रूप से नीम का प्रयोग किया जाता है। नीम के प्रयोग से यकृत कार्यों को बेहतर करने में भी helpful है।

इस juice में मौजूद तुलसी हमारे शरीर के लिए लाभकारी है।

Body की नेचुरल immunity को boost करने के लिए आपको डाबर गिलोय नीम तुलसी का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए।

आप 10 से 20 मिलीलीटर डाबर गिलोय नीम तुलसी का रस कम से कम दिन में दो बार तो जरूर लें। इससे आपको और आपके परिवार को स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी।

Pregnancy में गिलोय का सेवन

दोस्तों, जो महिलाएं pregnant हैं उन्हें गिलोय का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। अगर फिर भी गिलोय का सेवन pregnant  महिला करना चाहें तो इससे पहले अपने doctor की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Typhoid में गिलोय का सेवन 

  • Typhoid के रोगी को तेज बुखार होता है। साथ ही अन्य प्रकार की समस्याएं भी होती हैं। ऐसे में जरूरी है कि typhoid के patient  को गिलोय दिया जाए। क्योंकि गिलोय में किसी भी प्रकार के बुखार को ठीक करने वाले elements होते हैं।
  • इस बीमारी को ठीक करने के लिए भी गिलोय बेस्ट option है। इसके लिए आप गिलोय के एक फुट लंबे तने को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए। इसके बाद उसे रात भर इसे चार कप पानी में भिगो कर रखें। सुबह इसे उबाल लें। 
  • जब यह काढ़ा 4 कप से एक कप रह जाए तो उसे छलनी से छान लें। काढ़ा आधा कप सुबह और आधा कप शाम को पीना न भूलें। ऐसा करने से केवल 7 दिनों में ही आपका तेज बुखार उतर जाएगा।

गिलोय का काढ़ा पीने के फायदे 

इन दिनों पूरी दुनिया में कोरोना महामारी कहर बरपा रही है। ऐसे में जरूरत है अपनी immunity को मजबूत करने की। अगर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता ठीक होगी तो हम रोगों से आसानी से लड़ पाएंगे। immunity को बढ़ाने के लिए गिलोय सबसे सही तरीका है। 

अगर आप गिलोय को काढ़े के रूप में लेते हैं तो और भी अच्छा है। इसके लिए 2 inch अदरक लें, 3 से 4 तुलसी के पत्तों को लें, गिलोय की बड़ी सी स्टिक लें, 2 काली मिर्च लें और आप corn भी ले लें। सबसे पहले 2 glass पानी में आप तुलसी, अदरक और गिलोय मिलाएं। पानी को उबालने के लिए रख दें। जब यह आधा हो जाए तो gas बंद कर दें। अब इसमें आप लौंग, काली मिर्च डालकर ढक दें। इसके बाद 5 से 10 minute बाद छान लें। अब इस पानी को गुनगुना ही पी जाएं। दिन में एक गिलास गिलोय का काढ़ा आप आसानी से पी सकते हैं।

गिलोय के नुकसान 

  • छोटे या फिर बिलकुल नवजात बच्चों को हमें 250ML से ज़्यादा गिलोय किसी भी रूप में नहीं देना है। डॉक्टर से consult करके ही बच्चों को गिलोय दें। वरना इससे आपको काफी नुकसान झेलने पड़ सकते हैं।
  • Pregnant women को Pregnancy के दौरान और Pregnancy के काफी समय तक गिलोय बिल्कुल नहीं देना चाहिए।
  • गिलोय का सेवन करने से हमारा blood sugar level कम होता है। इसलिए जिन लोगों का sugar level already low है उन्हें doctor की सलाह से ही गिलोय का सेवन करने की सलाह दी जाती है।
  • अगर आपकी surgery होनी है या हो चुकी है तो surgery के 2 हफ्ते पहले या surgery होने के दो हफ्ते बाद तक patient  को गिलोय नहीं देना चाहिए।

निष्कर्ष : (Conclusion)

तो दोस्तों, हमारे इस Article में आपने जाना कि कैसे आप गिलोय का सेवन कर सकते हैं। किन किन लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। गिलोय के magical elements और नुकसान के बारे में भी हमने इस आर्टिकल में आपसे चर्चा की। गिलोय के फायदे देखकर हम कह गिलोय एक फायदे अनेक आपसे फिर होगी मुलाकात एक नई जानकारी के साथ धन्यवाद।

Previous राजनीति क्या है? राजनीती के सिद्धांत और विभिन्न प्रकार | Rajneeti Kya Hai?
Next खुबानी के 12 गुणकारी फायदे |Khubani Ke 12 Gunkaari Fayde